श्री रिक्तेश्वर भैरूनाथ मन्दिर प्रांगण में वैदिक मंत्रोच्चार के साथ हुआ यज्ञोपवित संस्कार

0
531

सामूहिक यज्ञोपवित संस्कार एवं श्री अष्टमहालक्ष्मी मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा समारोह सम्पन्न
जोधपुर। किला रोड़ स्थित श्री रिक्तेश्वर भैरूनाथ मन्दिर प्रांगण स्थित श्री गजमहालक्ष्मी मन्दिर में दंडी स्वामी दर्शनानन्द एवं स्वामी चन्द्रानन्द के सान्निध्य में आयोजित सामूहिक यज्ञोपवित संस्कार एवं श्री अष्टमहालक्ष्मी मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा आचार्य पं. प्रेमकिशोर ओझा के सानिध्य में पं. सुशील व्यास, पं. आलोक दवे, पं. सुरसा द्वारा बटुक रूद्रांश व्यास, दीपेश दवे, हर्शुल दवे, मोनिता ओझा, वंश कुमार व्यास, कल्पित बोहरा,चितवन त्रिवेदी, हिमांशु शर्मा, योगेश दवे, दिशांत दवे, परीक्षित बोहरा का वैदिक मंत्रोच्चार के साथ यज्ञोपवित संस्कार करवाया गया। तत्पश्चात बटुक काशी यात्रा के लिए रवाना हुए। दोपहर 4 बजे बटुक श्री गजमहालक्ष्मी मन्दिर से रवाना होकर चांदपोल स्थित श्री रामेश्वरनाथ मन्दिर पहुंचे।
रामेश्वरनाथ मन्दिर से गाजे बाजे एवं रथ के साथ 11 बटुक घोड़े पर विराजमान होकर अपने परिवार के साथ सैकड़ों समाज बन्धु एवं महिलाएं बच्चों सहित सम्मिलित होकर शोभायात्रा में शामिल हुए। शोभा यात्रा विद्याशाला होते हुए श्री गजमहालक्ष्मी मन्दिर, किला रोड़ पहुंची। शोभायात्रा में रथ पर विराजमान दंडीस्वामी दर्शनानन्द महाराज एवं चन्द्रानन्द महाराज के दर्शन कर श्रद्धालुओं ने लाभ प्राप्त किया तो कई जगह माल्यार्पण हुआ तो कई जगह पुष्प की वर्षा भी की गई। शोभायात्रा में कच्ची घोड़ी का नृत्य भी मन को लुभाने वाला लग रहा था।
अष्टमहालक्ष्मी मूर्ति प्राण प्रतिश्ठा कार्यक्रम के अन्तर्गत पीठाधी पूजन हवन, मूर्ति स्थापना अभिजीत मुहुर्त, उत्तर पूजन, बलिदान, इन्द्रादि, दशदिक्पाल पूजन एवं पूर्ण आहुति हुई।
श्री गजमहालक्ष्मी मन्दिर पर्यावरण एवं विकास समिति के प्रभाकर श्रीमाली (थैलोजी) ने बताया कि श्री अष्टमहालक्ष्मी मूर्ति का यह राजस्थान का पहला भव्य अनूठा मन्दिर है जिसके दर्शन मात्र से ही माँ लक्ष्मी प्रसन्न होकर अपने भक्तों पर कृपा बनाए रखती है।
आयोजित हुए समारोह में एबीवीपी के प्रदेशाध्यक्ष हेमन्त घोष, कैलाश श्रीमाली, रमेश घोश, श्रीकिशन दवे, विजय कुमार जोशी, विक्रान्त दवे, अशोक दवे, नरेन्द्र ओझा, दिनेश ठाकुर, प्रकाश शर्मा, रमेश द्विवेदी, विकास शर्मा, नरेश व्यास, गणेश वल्लभ व्यास, यशवन्त राज जोशी, एसआर त्रिवेदी, ओमप्रकाश दवे, चंचल दवे, अमित दवे के साथ समाज बन्धु एवं महिलाएं भारी संख्या में उपस्थित हुए।

LEAVE A REPLY