रक्षाबंधन रविवार को, इस बार भद्रा सूर्योदय से पूर्व ही समाप्त हो रही है

67

भाई अपनी बहनों के लिए गिफ्ट आइटमों की कर रहे खरीद
जोधपुर, 24 अगस्त। श्रावण मास की पूर्णिमा 26 अगस्त को रक्षाबंधन का पर्व धूमधाम से मनाया जाएगा। इस बार भद्रकाल का साया नहीं होने से बहनें दिन भर भाई की कलाई पर रक्षा सूत्र बांध सकेंगी। ज्यों- ज्यों रक्षाबंधन त्योहार का दिन नजदीक आ रहा है। बाजारों में बूम नजर आने लगी है। खासतौर पर राखी और कपड़ों की खरीददारी के लिए दुकानों पर लोगों की भीड़ लगने लगी है। रक्षाबंधन के नजदीक आते ही राखी की दुकानें सज गई हैं। बहनों ने शहर से बाहर रहने वाले भाई को राखियां भेज दी हैं।

यह रहेगा मुहूर्त
इस बार भद्रा सूर्योदय से पूर्व ही समाप्त हो रही है। इस कारण राखी बांधने में किसी प्रकार से भद्रा का दोष नहीं रहेगा। इस बार पूर्णिमा की तिथि शाम 5.25 तक रहेगी। रविवार को पूरे दिन ही बहनें अपने भाई की कलाई पर राखी बांध सकती है, लेकिन प्रात: 10.45 से 12.22 तक लाभ वेला और 12.22 से 1.58 तक अमृत वेला रहेगी। वहीं 11.56 से 12.47 तक अभिजित मुहूर्त श्रेष्ठ रहेगा।
बाजार में बूम : जोधपुर शहर के बाजारों में रक्षाबंधन पर जबरदस्त बूम है। शाम के वक्त त्रिपोलिया , कटला बाजार, नई सड़क घंटाघर, सरदारपुरा बी- सी रोड, रातानाडा, पावटा, चौपासनी हाऊसिंग बोर्ड, बासनी, बीजेएस और दूरदराज बसी कॉलोनियों में शाम के वक्त खरीददारों की भीड़ देखी जा सकती हैं।
कपड़ों की तरफ महिलाएं आकर्षित
महिलाओं में सलवार सूट, कुर्ती का ज्यादा के्रेज है। राजपूती पोशाक ओढऩी तथा चुंदड़ी का भी क्रेज दिखाई दे रहा है। रेशम, जरकिन वर्क और नेट पर कढ़ाई वर्क की साड़ी और शिफान पर रेशम वर्क की साडिय़ों की ज्यादा मांग बढ़ी है।
गिफ्ट आइटम के लिए उमड़ रहे भाई: भाई भी अपनी बहनों को अपनी क्षमता के अनुसार गिफ्ट देने के लिए खरीददारी करने में जुटे हैं। मोबाइल, हाथ घड़ी, सोने के जेवर, सलवार सूट, मेकअप सामान, पर्स आदि खरीदने में जुटे हुए हैं। इस बार कई भाई अपनी लाड़ली बहन को गिफ्ट में गिफ्ट बाऊचर, इंश्योरेंस पॉलिसी आदि देकर कुछ नया करने की सोच रहे ह़ै।