बड़े भाई की अंतिम यात्रा में शामिल हुए गहलोत, मुख्यमंत्री ने भी जताया शोक

318

जोधपुर। पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव अशोक गहलोत के बड़े भाई कंवर सेन गहलोत शुक्रवार को पंचतत्व में विलीन हो गये। उनकी पार्थिव देह का यहां रामबाग स्वर्गाश्रम में अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान वहां अशोक गहलोत सहित कई राजनेता, अधिकारी व अन्य लोग उपस्थित थे। उन लोगों ने स्व. कंवर सेन को अंतिम यात्रा में शामिल होकर श्रद्धांजलि अर्पित की। कंवर सेन गहलोत का गुरुवार रात को निधन हो गया था। उनके निधन पर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भी शोक जताया है।
पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बड़े भाई कंवर सेन गहलोत की अंतिम यात्रा शुक्रवार सुबह पावटा सी रोड पर लाल मैदान बालाजी मंदिर के पास स्थित निवास स्थान से रवाना हुई। इससे पहले उनके शव को आमजन के दर्शनार्थ रखा गया। यहां कई कांग्रेसी नेता, अन्य राजनैतिक दलों से जुड़े लोग, माली समाज के लोग, अधिकारी व अन्य लोगों ने उन्हें पुष्प हार चढ़ाकर श्रद्धांजलि दी। इस दौरान अशोक गहलोत व उनके पुत्र वैभव गहलोत भी यहां उपस्थित थे। भाई के निधन की खबर सुनकर वे गुरुवार रात को जयपुर पहुंच गए थे। वहां से वे शुक्रवार सुबह जोधपुर पहुंचे। वे अपने बड़े भाई की अंतिम यात्रा में शामिल हुए और उनके शव को कंधा भी दिया। अंतिम यात्रा निवास स्थान से रवाना होकर रामबाग कागा स्थित स्वर्गाश्रम में पहुंची। इस दौरान रास्ते में व्यापारियों व दुकानदारों ने अपने प्रतिष्ठान भी बंद रखे और कंवर सेन की पार्थिव देह पर पुष्प हार चढ़ाए। रामबाग कागा स्थित स्वर्गाश्रम में गमगीन माहौल में कंवर सेन गहलोत की पार्थिव देह का अंतिम संस्कार किया गया।
वसुंधरा ने किया ट्विट: मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बड़े भाई कंवर सेन गहलोत के निधन पर जताया शोक है। सीएम राजे ने ट्वीटर पर संवेदना व्यक्त कर कहा कि ‘अशोकजी के बड़े भाई श्री कंवर सिंह गहलोतजी के निधन का समाचार सुन आहत हूं। एक भाई को खोने का दर्द में व्यक्तिगत रूप से समझ सकती हूं। मेरी ईश्वर से प्रार्थना है कि वह दिवंगत आत्मा को शांति एवं शोक संतप्त परिजनों को यह आघात सहन करने की शक्ति दें।‘