विश्व मधुमेह दिवस पर दिवस रैली निकाल दिया जागरूकता का संदेश

28

 

जोधपुर, 14 नवंबर। विश्व मधुमेह दिवस पर आज शहर में कई कार्यक्रम आयोजित किये गये जिनमें लोगों को मधुमेह के प्रति जागरूक किया गया। लायंस क्लब जोधपुर द्वारा बुधवार सुबह 7 बजे बरकतुल्लाह स्टेडियम से शास्त्री सर्किल तक मधुमेह जागरूकता रैली निकाली गई । जिस्में तख्तियों व नारों के माध्यम से लोगों को जागरूक किया गया।लॉयंस क्लब जोधपुर मरुधरा और सिंधी सेंट्रल पंचायत के संयुक्त तत्वावधान में जोधपुर मेडिकल रिसर्च सेंटर अस्पताल में विश्व मधुमेह दिवस पर सवेरे मधुमेह जांच व उपचार शिविर आयोजित किया गया। शिविर में बीपी व शुगर की जांच निशुल्क की गई।
बदलते खानपान और अनियमित दिनचर्या ने मधुमेह (डायबिटीज) को आम बीमारी बना दिया है। कुछ लोगों में बीमारी शुरू में हो जाती है, लेकिन पता नहीं लगता। इसके कारण यह खतरनाक हो जाती है। अब बड़ों में ही नहीं, बच्चों में भी मधुमेह के लक्षण पाए जाने लगे हैं। धीरे-धीरे मधुमेह विकराल रूप ले रहा है। मधुमेह के शुरुआती लक्ष्णों की पहचान हो जाए तो इलाज आसानी से हो सकता है। यह कहना है विशेषज्ञ चिकित्सकों का। विश्वमधुमेह दिवस पर आज शाम 6.30 बजे मेहरानगढ़ दुर्ग नीली रोशनी से जगमगाएगा। मेहरानगढ़ म्यूजियम ट्रस्ट एवं मौलाना आजाद यूनिवर्सिटी की
जोधपुर स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के संयुक्त तत्वावधान में होने वाले कार्यक्रम का उद्देश्य आमजन को इस बीमारी से बचाने के लिए जागरूक करना है। मेहरानगढ़ म्यूजियम ट्रस्ट के निदेशक करणीसिंह जसोल ने बताया, कि डायबिटीज के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए ‘ब्लू सर्किलÓ का गठन किया गया है, जो मधुमेह के विरुद्ध एकजुटता को दर्शाता
विश्व में हर साल 14 नवबर को मधुमेह दिवस मनाया जाता है। मुख्य उद्धेश्य डायबिटीज के प्रति लोगों में जागरुकता पैदा करना है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार मधुमेह भारत की सबसे बड़ी सेहत संबंधी समस्या है। भारत
में लगभग सात करोड़ लोग डायबिटीज पीडि़त है। यह संख्या बढ़ रही है। मालूम हो, मधुमेह मामले में रक्त में शर्करा की बढ़ी मात्रा रक्त नलिकाओं को क्षतिग्रस्त कर सकती है।