मुख्यमंत्री के जोधपुर दौरे की तैयारियां तेज कल जोधपुर आएंगे, कांग्रेसी नेताओं और अधिकारियों ने तैयारियों का लिया जायजा

181

जोधपुर। मुख्यमंत्री बनने के बनने के बाद अशोक गहलोत मंगलवार को पहली
बार जोधपुर आएंगे। उनके प्रस्तावित दौरे को देखते हुए पुलिस
अधिकारियों और कांग्रेसी नेताओं ने सोमवार को तैयारियों का
जायजा लिया। गहलोत यहां घंटाघर में आमसभा को संबोधित कर
राजस्थान में कांग्रेस की सरकार बनाने के लिए धन्यवाद प्रेषित करेंगे।
दरअसल प्रदेश में हुए विधानसभा चुनाव के बाद सरकार गठन को एक माह
से अधिक समय हो गया है। जोधपुर के लाडले अशोक गहलोत के
तीसरी बार मुख्यमंत्री बनने के बाद उनके जोधपुर आगमन की लंबे समय से
प्रतीक्षा की जा रही है। मुख्यमंत्री बनने के बाद वे अब तक एक बार भी अपने
गृह नगर जोधपुर नहीं आए। इस दौरान उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट
सहित कई कैबिनेट व राज्य मंत्री जोधपुर का दौरा कर चुके लेकिन
गहलोत व्यस्तता के कारण जोधपुर नहीं आ सके। शहरवासियों का
इंतजार अब खत्म होने वाला है। मंगलवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत
अपने गृह नगर जोधपुर पधार रहे है। इसको लेकर कांग्रेसी नेता
और कार्यकर्ता जोरदार तैयारियां में जुटे है।
जोधपुर शहर जिला कांग्रेस कमेटी के महासचिव आनंदसिंह चौहान ने बताया कि
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत मंगलवार को विशेष विमान द्वारा प्रात: दस बजे जोधपुर
एयरपोर्ट पहुंचेंगे जहां उनका जोरदार स्वागत किया जाएगा। इसके बाद वे
दोपहर एक बजे घंटाघर में आयोजित आम सभा को संबोधित करेंगे व
राजस्थान में कांग्रेस की सरकार बनाने के लिए धन्यवाद प्रेषित करते हुए
आगामी लोक सभा चुनावों में राहुल गांधी के नेतृत्व में केंद्र में कांग्रेस
सरकार बनाने का शंखनाद करेंगे। दोपहर सवा दो बजे वे जयनारायण
व्यास विश्वविद्यालय के छात्रसंघ कार्यालय का उद्घाटन करेंगे। शाम
को उनका यहां निजी कार्यक्रमों में भाग लेने का प्रोग्राम है।
कमुख्यमंत्री के प्रस्तावित दौरे को लेकर कांग्रेसियों में उत्साह है।
सोमवार को सुबह विधायक मनीषा पंवार, नगर निगम में नेता प्रतिपक्ष
राजेंद्रसिंह सोलंकी, रमेश बोरणा, जसवंतसिंह कच्छवाहा आदि
कांग्रेसी नेताओं ने घंटाघर में होने वाली आमसभा के लिए
तैयारियों का जायजा लिया। वहीं पुलिस अधिकारियों ने भी सर्किट
हाउस में व्यवस्थाओं को जांचा। यहां आमजन से गहलोत मुलाकात
करेंगे। इसके लिए तैयारियां शुरू कर दी गई है। वहीं मुख्यमंत्री के
स्वागत के लिए विभिन्न कमेटियों का गठन कर जिम्मेदारी सौंपी गई है जिसमें
जिला पदाधिकारी, ब्लॉक अध्यक्ष, प्रकोष्ठ, विभाग, अग्रिम संगठनों के अध्यक्षों
द्वारा विभिन्न चौराहों को सजाया जाएगा।