एटीएस का वांछित अपराधी शिकारगढ़ में पकड़ा गया

181

25 हजार का था इनाम, रातानाडा पुलिस
कर रही पूछताछ
जोधपुर। सात साल से मादक पदार्थों की
तस्करी में लिप्त रहे एक अपराधी को
रातानाडा पुलिस ने आज सुबह शिकारगढ़
एरिया से दस्तयाब किया। वह अपने रिश्तेदार से
मिलने आया था। अपराधी एटीएस का वांछित था
और उस पर 25 हजार का इनाम भी तीन साल
पहले घोषित हो रखा था। फि लहाल
रातानाडा पुलिस इससे पूछताछ में जुटी
है। उसे एटीएस को सुपुर्द किया जाएगा।
रातानाडा थानाधिकारी भूपेंद्र सिंह ने
बताया कि जैसलमेर जिले के सम थानान्तर्गत
सगरों की बस्ती का रहने वाला हसन खां पुत्र
हाजी शालू खां पिछले सात से फरारी काट
रहा था। वह मादक पदार्थों की तस्करी में भी
लिप्त रहा है। वह पाकिस्तान से माल लाकर भी
बेचता ऐसी जानकारी पूर्व में थी। वह एटीएस
का वांछित अपराधी है। उसे पर पहले 9
जून 16 को 5 हजार का इनाम घोषित किया
गया, मगर बाद में ही संशोधन इसे 25
हजार रूपए किया गया। वह वर्ष 2012 से
फरार था और इसकी लगातार तलाश चल
रही थी।

थानाधिकारी भूपेंद्र सिंह के अनुसार उसके
आज सुबह शिकारगढ़ स्थित आर्मी क्षेत्र में
होने की जानकारी मिली। इस पर पुलिस की
टीमें बनाकर उसके रिश्तेदार के यहां
पर घेराबंदी कर पकड़ा गया। उसे एटीएस
को सुपुर्द किया जाएगा।