उब छठ का व्रत रखा, चंद्रोदय के बाद खोला जाएगा

33

जोधपुर। सुहागिन महिलाओं ने पति की लंबी आयु के लिए तथा कुंआरी
लड़कियों ने अच्छे पति की कामना के लिए कृष्ण पक्ष की षष्टी तिथि पर बुधवार
को उब छठ का व्रत रखा। यह व्रत रात को चंद्रोदय के बाद खोला जाएगा। आज
भगवान कृष्ण के भ्राता बलराम का जन्मदिन भी है इसलिए शाम ढलने के बाद व्रत
रखने वाली महिलाएं और कुंआरी लड़कियां मंदिरों में ठाकुरजी के दर्शन
के साथ परिवार के सुख-समृद्धि की कामना करेंगी।
उब छठ को चंदन षष्टी, चन्ना छठ और चांद छठ के नाम से भी जाना जाता है।
बुधवार को सुहागिन महिलाओं ने पूरे दिन उपवास रखा। सुबह
उठकर उन्होंने व्रत का संकल्प लिया। इसके बाद आज पूरे दिन
निराहर रही। उब छठ का व्रत रखने वाली महिलाएं और कुंवारी कन्याएं
सूर्यास्त के बाद से चंद्रोदय तक खड़े रहकर पौराणिक कथाएं सुनेगी। शाम को
दुबारा नहाकर, नए कपड़े पहन मंदिरों में भजन-कीर्तन करेंगी और चंदन का
टीका लगाएगी। इस दिन कुछ लोग लक्ष्मीजी और और गणेशजी की पूजा भी
करेंगे। साथ ही मंदिरों में ठाकुरजी के दर्शन कर पूजा अर्चना की जाएगी।
शहर के कटला बाजार स्थित कुंजबिहारी मंदिर, जूनी मंडी स्थित गंगश्यामजी
मंदिर व बालकिशन मंदिर, अचलनाथ मंदिर, चांदपोल स्थित रामेश्वर मंदिर, राज
रणछोड़ मंदिर में ठाकुरजी की आकर्षक झांकियां सजाई जाएगी। चांद दिखने
पर चांद को अघ्र्य देकर एक ही जगह खड़े होकर परिक्रमा करेंगी। इसके बाद व्रत
खोलेंगी।

बीएसएफ में पेंशन अदातल 23 को
जोधपुर। फ्रंटियर मुख्यालय सीमा सुरक्षा बल के तत्वावधान में राजस्थान
एवं गुजरात राज्य के सीमा सुरक्षा बल के सेवानिवृत्त, अपंग, विधवाओं तथा
उनके आश्रितों के कल्याण के लिए सहायक प्रशिक्षण केन्द्र जोधपुर में
शुक्रवार को सुबह दस बजे पेंशन अदालत का आयोजन किया जाएगा।
इस पेंशन अदालत में विभिन्न विभागों व कार्यालयों वेतन एवं लेखा प्रभाग सीमा
सुरक्षा बल, केन्द्रीय पेंशन लेखा अधिकारी, बैंक, पेंशन अनुभाग एवं
आरआर सेल, सीमा सुरक्षा बल के सभी प्रतिनिधियों द्वारा एक साथ बैठकर
सेवा निवृत्त कार्मिकों की पेंशन से संबंधित समस्याओं एवं सुझावों को सुना
जाएगा तथा वहीं पर उनकी समस्या के समाधान का प्रयास किया जाएगा। इस पेंशन
अदालत का उद्देश्य सीमा सुरक्षा बल के सेवानिवृत्त कार्मिको की पेंशन से
संबंधित शिकायतों को दूर करना है।