लो फ्लोर बस ने कुचला दिव्यांग नर्सिंग छात्रा को

21

मुआवजे की मांग को लेकर किया रास्ता जाम
जोधपुर,3 सितम्बर। शहर के मथुरादास माथुर अस्पताल के गेट संख्या
दो के बाहर लो फ्लोर बस से नीच उतर रही दिव्यांग नर्सिंग छात्रा के
ऊपर से बस गुजरने से मौके पर ही मौत हो गई। इस बात से गुस्साए नर्सिंग
विद्यार्थियों व अन्य लोगों ने रास्ता रोक कर रोष जाहिर किया।
जानकारी के अनुसार एमडीएम अस्पताल में प्रशिक्षण प्राप्त कर ही
राजकीय नर्सिंग महाविद्यालय की छात्रा विमला परिहार (23) गेट संख्या दो
के बाहर बस से नीचे उतर रही थी। इस बीच चालक व परिचालक ने बिना
देखे ही बस को रवाना कर दिया। ऐसे में छात्रा संभल नहीं पाई और बस
के नीचे आ गई। इस हादसे में उसकी मौके पर मौत हो गई। हादसे के तुरंत
बाद चालक व परिचालक मौके से भाग छूटे। छात्रा का शव मोर्चरी में
रखवाया गया।
रास्ता जाम कर किया प्रदर्शन : हादसे की जानकारी मिलते ही विमता
के पिता अन्य परिजनों के साथ वहां पहुंच गए। इसके अलावा विमला के सभी
सहपाठी भी एमडीएम पहुंच गए। थोड़ी देर पश्चात सभी छात्र विमला के पिता के
साथ रास्ता जाम कर बैठ गए। विमला के पिता ने आरोप लगाया कि बस
चालक उनकी विकलांग पुत्री के साथ हमेशा गलत व्यवहार करता रहा।
उसे बस में बैठाने के लिए बहुत आगे जाकर रोकता। ऐसे में विकलांग
होने के बावजूद विमला को दौडऩा पड़ता। इसी तरह एमडीएम के निर्धारित
स्टैंड के बजाय काफी पहले ही रोक देता था। उन्होंने आरोप लगाया कि
यदि चालक भागने के बजाए उनकी पुत्री के समय पर अस्पताल ले जाता तो
उसकी जान बचाई जा सकती थी। सभी लोग रास्ता जाम कर चालक को
गिरफ्तार कर लाने की बात पर अड़े हुए है। दूसरी तरफ पुलिस
अधिकारी समझाइश कर रास्ता खुलवाने का प्रयास कर रहे है।
नर्सिंग की छात्रा थी: विमला परिहार पुत्री ख्ीामाराम परिहार
तृतीय श्रेणी की छात्रा थी। वह मूल रूप से भोपालगढ़ के बिरानी
स्थित जालेराव की ढाणी की थी। चार भाई बहनों में वह तीसरे
नंबर पर थी। चाचा कानाराम पुत्र नारूराम ने पुलिस को इसकी
रिपोर्ट दी है।
परिजन ने रखी मांगे: मृतका विमला के परिजन ने प्रशासन से कुछ
मांगे रखी है। इनमें मुआवजा के तौर पर 50 लाख रूपए, परिवार
के एक सदस्य को सरकारी नौकरी एवं बस के चालक व परिचालक को
तुरंत गिरफ्तार किया जाएं।
प्रशासन ने की समझाइश: पुलिस की तरफ से की गई समझाइश एवं
मांगों पर आश्वासन दिए जाने के बाद परिजन मृतका के पोस्टमार्टम
के लिए तैयार हुए।